सर्वाधिकार सुरक्षित : - यहाँ प्रकाशित कवितायेँ और टिप्पणियाँ बिना लेखक की पूर्व अनुमति के कहीं भी प्रकाशित करना पूर्णतया अवैध है.

Followers of Pahchan

Aug 11, 2011

friendship : दोस्ती

"जिन्दगी  जो  थी  इन्ही  के  नाम  रह  गयी ..... 
आज  -
एक  से  कदम - भर की दूरी  है  , तो दूसरा  दिल से दूर हो गया ....!!!"



मुझे प्यार जीत से ,
जिंदगी में कभी नही था ,
जब मुक्कदर में आयी ,
एक  हार  की  तरहा ,
तो  दोस्ती कर  बैठे !

जब जीत की आदत लगा बैठे ,
तो वो , हाथ छुडा , दूर जाकर बोली -
"तुझे  ख्वाहिश  जीत  की  कभी ,
जिंदगी  में  नही  थी ,
हार  की  हसरत  थी  तुझे ,
वो  मिल  गयी  ......"

तमाशे का नया ही अंदाज़ था ,
ख़ुशी  आने लगी थी - जाने लगी थी  , 
नए अंदाज़ में जीने लगे थे , मरने लगे थे !

मगर  हार से  पहले  और  जीत के बाद ,
जिंदगी  में नए  रंग भी  बिखरते  देखे ,
नए  लोगों  से मिल खुशी होने लगी ,
बंद  दीवारें  और बंद आसमान के साथ ,
तब बंद मुठी भी खुलने लगी ,
पंख , हसरतों और कामयाबी के मिले 
तो हम उड़ने लगे......
महक , मुरझाये फूलों से आने लगी 
मगर " जाने क्यूँ ? " का  सवाल  आता  रहा 
हैरान करता रहा ....
सोच बनती रही , बिगड़ती रही 
मुझे कुछ खोने का डर जिंदगी में कभी नही था 
मगर पाने की हसरत कर बैठे 
तो कया है ?...." खोने की तड़प "
बात ये तब समझ आयी  !



मुझे प्यार जीत से जिंदगी में कभी नही था ,
जब मुक्कदर में आयी ,
एक हार की तरहा , तो शिकायत कर बैठे!




ये कविता मैंने 
मेरे बेहद करीबी दोस्तों के लिए ......लिखी थी ! 

-ANJALI  MAAHIL



9 comments:

  1. बहुत ही प्रस्तुती....

    ReplyDelete
  2. दिल के सच्चे जज्बातों को बयां करती एक शानदार पोस्ट|

    ReplyDelete
  3. "तुझे ख्वाहिश जीत की कभी ,
    जिंदगी में नही थी ,
    हार की हसरत थी तुझे ,
    वो मिल गयी ......"

    Bahut sundar rachna Anjali Ji.. Poori mahsusiyat se likhi gai rachna.. badhai aur

    bahut-bahut shukriya lekhni ke safar mein mera saath dene ke liye..

    ReplyDelete
  4. उम्दा लेखन,खूबसूरत अभिव्यक्ति.
    कमाल की प्रस्तुति.वाह वाह, क्या बात है.

    ReplyDelete
  5. खुबसुरत भाव है कविता के। धन्यवाद।

    ReplyDelete
  6. खूबसूरती से लिखे जज़्बात

    ReplyDelete
  7. खूबसूरती जज़्बात सुन्दर प्रस्तुति...

    ReplyDelete

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...